Breaking News

छत्तीसगढ़ : लाखों के गबन मामले की जांच करने पहुंची टीम को बंधक बनाकर पूरा पंचायत भवन में पेट्रोल छिड़ककर आग के हवाले करने की गई  कोशिश…

छत्तीसगढ़ : लाखों के गबन मामले की जांच करने पहुंची टीम को बंधक बनाकर पूरा पंचायत भवन में पेट्रोल छिड़ककर आग के हवाले करने की गई कोशिश…

राष्ट्रीय जगत विजन 8 जनवरी 2021

पिथौरा : पिथौरा जनपद पंचायत के ग्राम पंचायत कसहीबाहरा में कथित गबन के पुराने मामले की जांच करने गई जांच टीम काे बंधक बनाने का मामला सामने आया है। जांच टीम सहित पंचायत पदाधिकारियों को शिकायतकर्ता ने ही पंचायत भवन में बंधक बना लिया था। यही नहीं शिकायतकर्ता ने पंचायत भवन में पेट्रोल छिड़ककर आग लगाने की कोशिश भी की, लेकिन स्थानीय ग्रामीणों ने तत्काल आरोपी को पकड़कर उससे माचिस और चाबी छीनकर टीम को छुड़ाया। मामला बुधवार दोपहर 12.30 बजे का बताया जा रहा है। ग्राम पंचायत के सरपंच की शिकायत के बाद पिथौरा पुलिस ने जयराम पटेल के खिलाफ धारा 186, 294, 506, 342 के तहत मामला दर्ज कर विवेचना में लिया है। पिथौरा थाना प्रभारी केशव कोसले ने बताया कि जयराम को गिरफ्तार कर लिया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत कसहीबाहरा में 15 वर्ष पहले पूर्व सरपंच कुमारी बाई के कार्यकाल में 12 लाख रुपए के गबन की शिकायत पूर्व सरपंच जयराम पटेल ने की थी। पूर्व सरपंच की शिकायत को संज्ञान में लेते हुए जनपद पंचायत पिथौरा की ओर से जांच टीम का गठन किया गया। जांच टीम में आरईएस के सब इंजीनियर गौरी शंकर पैकरा, जनपद पंचायत के करारोपण अधिकारी आरएल भारती और स्वच्छता प्रभारी अशोक साहू को शामिल किया गया था। जांच टीम शिकायतकर्ता को पूर्व में ही नोटिस देकर 6 जनवरी को मामले की जांच के लिए ग्राम पंचायत पहुंची थी।

ताला-चाबी और पेट्रोल लेकर पहुंचा शिकायतकर्ता

जांच दल में शामिल अशोक साहू ने बताया कि शिकायतकर्ता को जांच दल के आने की सूचना पहले ही दे दी गई थी। बुधवार की सुबह 11 टीम पंचायत भवन पहुंची। यहां पंचायत के अधिकारी और जनप्रतिनिधियों के साथ शिकायतकर्ता का इंतजार किया गया, लेकिन वह नहीं पहुंचा। इसके बाद एक कर्मचारी को उसे बुलाने के लिए घर भेजा गया। इसके कुछ देर बाद ही जयराम घर से ही ताला-चाबी और पेट्रोल लेकर पंचायत भवन पहुंचा। उसने चैनल गेट खींचकर ताला लगा दिया और गाली देने लगा। इसके बाद वह पेट्रोल छिड़कने लगा, तो ग्रामीणों ने आवाज लगाई और उसे ऐसा करने से रोका। इसके बाद ग्रामीणों ने ही उससे चाबी छीनकर ताला खोला, जिसके बाद हम सभी बाहर निकले।

पंचायत भवन के भीतर मौजूद थे 50 से अधिक लोग, मची थी भगदड़

इधर, पिथौरा थाने में की गई लिखित शिकायत में ग्राम पंचायत के सरपंच युगल किशोर यादव ने बताया कि घटना के दौरान पंचायत भवन में 50 से अधिक लोग मौजूद थे। पूर्व सरपंच ने जैसे ही ताला लगाकर पेट्रोल छिड़कना शुरू किया तो बाहर से ग्रामीणों ने आवाज देकर इसकी सूचना दी। इतना सुनते ही पंचायत भवन के भीतर भगदड़ मच गई।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *