Breaking News

सरकारी संरक्षण में ठगी का कारोबार चला रहे एक्टिविस्ट पर कड़ी कार्यवाही किये जाने की मांग

सरकारी संरक्षण में ठगी का कारोबार चला रहे एक्टिविस्ट पर कड़ी कार्यवाही किये जाने की मांग

राष्ट्रीय जगत विजन 8 जनवरी 2021

रायपुर : भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अनुराग सिंहदेव ने प्रदेश में नौकरी लगाने के नाम पर ठगी का कारोबार फलने-फूलने पर चिंता जताते हुए कहा कि प्रदेश सरकार की शह पर ठगी के आरोपी सरकारी पद पाकर न केवल अपराध कर रहे हैं, अपितु प्रदेश सरकार के अपराध मुक्त छत्तीसगढ़ के दावे को भी पलीता लगा रहे हैं। श्री सिंहदेव ने कहा कि सामाजिक कार्यकर्ता और आरटीआई एक्टिविस्ट होने की धौंस दिखाकर एक दम्पत्ति द्वारा की गई इस ठगी के मामले को लेकर की गई लिखित शिकायत की जांच कर एफआईआर दर्ज कर पीड़िता विधवा को इंसाफ दिलाया जाए।

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता श्री सिंहदेव ने डूमरतालाब के अटल आवास में निवासरत श्रीमती रानू टंडन द्वारा पुलिस में की गई लिखित शिकायत का हवाला देते हुए कहा कि आरोपी कुणाल शुक्ला और उसकी पत्नी प्रीति शुक्ला राजधानी में बंटी-बबली की तर्ज पर ठगी में लगे हुए है। राजधानी के ही शैलेन्द्र नगर में रहने वाले कुणाल शुक्ला खुद को सामाजिक कार्यकर्ता और आरटीआई एक्टिविस्ट बताता है और नौकरी दिलाने के नाम पर पहले तो इस दंपत्ति ने पीड़िता रानू टंडन से ढाई लाख रुपए यह कहकर ले लिए कि उसके जीजा राकेश चतुर्वेदी वन विभाग में बड़े ओहदे पर हैं और तुम्हारी नौकरी लग जाएगी लेकिन बाद में आरोपी दंपत्ति न केवल इस बात से मुकर गया, अपितु नौकरी की गुहार लगाने गई रानू से दुर्व्यवहार भी किया और नौकरी नहीं लगाने पर पैसा वापस मांगने पर बाल खींचकर घर से धक्का देकर भी निकाल दिया। रानू ने शिकायत में पुलिस को बताया है कि आरोपी कुणाल व प्रीति ने ‘हमारा कोई कुछ बिगाड़ नहीं सकता’ कहकर जातिसूचक गालियां भी दीं।

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता श्री सिंहदेव ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आने के बाद से अपराधों का ग्राफ लगातार बढ़ा है। प्रदेश सरकार के राजनीतिक संरक्षण में अपराधियों के हौसले बुलंद होते जा रहे हैं। सत्ता पक्ष और अपराधियों की मिलीभगत से प्रदेश के जरूरतमंद लोग आए दिन अपराधों और ठगी के शिकार हो रहे हैं और प्रदेश सरकार आपराधिक प्रवृत्ति के ऐसे नकाबपोश लोगों पर कड़ी कार्रवाई करने के बजाय उन्हें पदों पर बिठाकर महिमामंडित कर रही है। श्री सिंहदेव ने कहा कि इस ठगी का आरोपी कुणाल शुक्ला कबीर शोधपीठ का अध्यक्ष है और उसकी छवि शुरू से ही विवादित रही है। अभी पखवाड़ेभर पहले एक मुस्लिम युवक ने इस शुक्ला दंपत्ति पर रुपए लेकर जनहित याचिका तथा आरटीआई से वूसली का प्रमाणित आरोप लगाया और इसका वीडियो फूटेज भी उक्त युवक के पास है, लेकिन सरकारी संरक्षण के चलते कथित तौर पर आरोपी शुक्ला दंपत्ति की दलाली व वसूली की दुकानदारी फल-फूल रही है। श्री सिंहदेव ने इस पूरे मामले की जांच कर कार्यवाही किए जाने की मांग किया है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *