Breaking News

दुकान ख़ाली कराने को लेकर हुआ मारपीट, अभय बरुआ घयाल कार में भी किया गया तोड़फोड़, तारबाहर थाने में दोनों पक्षों की लगी भीड़, दोनों पक्षों का बयान ले रही पुलिस,

बिलासपुर: शहर के पुराना बस स्टैंड स्थित एक दुकान पर कब्जे और दुकान खाली कराने को लेकर दो पक्षों के बीच हुई मारपीट में अभय बरुआ के घायल होने की जानकारी मिली है।। यहां मिली जानकारी के अनुसार दुकान का कब्जा खाली कराने को लेकर दोनों पक्षों में पहले जमकर वाद विवाद और बहस बाजी हुई जिसने देखते ही देखते मारपीट का रूप ले लिया।
और दोनों पक्षों में जमकर कर मारपीट हुई। जिसमें भू माफिया अभय बरुआ को सर में चोट लगने की जानकारी मिली है। साथ ही अभय बरुआ की गाड़ी में तोड़फोड़ भी किया गया है, पुलिस ने अभय बरुआ को मुलायजा के लिए जिला अस्पताल भेजा है। बस स्टैंड रोड स्थित रोड की इस दुकान में इस्माइल खान का कब्जा है। इस्माइल खान के मुताबिक उसने यह दुकान खरीद कर अपने नाम पर रजिस्ट्री करा लिया है। जबकि अभय बरुआ भी इस दुकान को खरीदने का दावा कर रहा है।‌
और इसी आधार पर अभय बरुवा आज दुकान खाली कराने पहुंच गया। इस पर वहां मौजूद इस्माइल के लड़के सोहराब ने यह कहते हुए दुकान खाली करने से मना कर दिया कि वह दुकान उनके द्वारा पहले ही खरीदी जा चुकी है। और देखते ही देखते वहां वाद विवाद शुरू हुआ और मारपीट का रूप ले लिया।
मारपीट व धक्का मुक्की में अभय को सिर पर चोट लगी है। उधर दूसरे पक्ष का कहना है कि अभय और उसके साथियों ने दुकान का सामान फेंकना शुरू कर, ऑफिस में तोड़फोड़ की। पुलिस दोनों पक्षों की शिकायत लेकर जांच कर रही है। जबकि मारपीट में घायल हुए अभय बरुआ को मुलाहिजा के लिए सिम्स भेजा गया है।

यूथ कांग्रेस के प्रदेश महासचिव मोनू अवस्थी के खिलाफ गलत खबर चलाना……… दा सेंट्रल न्यूज पोर्टल के एडिटर इन चीफ और संपादक को पड सकता है मंहगा यूथ कांग्रेस नेता ने किया थाना सिविल लाइंस में लिखित शिकायत …..पढे क्या है पूरा मामला

यूथ कांग्रेस के प्रदेश महासचिव मोनू अवस्थी के खिलाफ गलत खबर चलाना……… दा सेंट्रल न्यूज पोर्टल के एडिटर इन चीफ और संपादक को पड सकता है मंहगा यूथ कांग्रेस नेता ने किया थाना सिविल लाइंस में लिखित शिकायत …..पढे क्या है पूरा मामला

बिलासपुर : कल दिनांक 10/6/2021 रात्रि 8.30बजे एक लिखित शिकायत यूथ कांग्रेस प्रदेश महासचिव आशीष अवस्थी उर्फ मोनू अवस्थी ने थाना सिविल लाइन में दा सेंट्रल न्यूज पोर्टल के एडिटर इन चीफ और संपादक के खिलाफ आवेदन दिया है जिसमें मोनू ने आरोप लगाया है की पोर्टल के एडिटर और संपादक ने यह समाचार स्वास्थ्य मंत्री जी के छवि धूमिल करने के लिए मुझे चिन्हांकित करते हुए यह गलत समाचार बनाकर वायरल किया है जिससे स्वास्थ्य मंत्री और मेरा आम जनता के सामने छवि को धूमिल करने का प्रयास किया है उक्त मामले की जांच कर उचित कार्यवाही करते हुए आई टी एक्ट के तहत अपराध दर्ज करने की मांग किया है, आगे उन्होंने यह भी कहा की अगर थाना सिविल लाइन इस पर कार्यवाही नहीं करती है तो वह न्यायालय जाने के लिए भी तैयार हैं ।

पढें क्या था पूरा मामला और समाचार जो द सेंट्रल न्यूज पोर्टल ने लगाया था

आम आदमी के लिए टीका नहीं, मंत्री, विधायक या नेता के खास हो तो बिना नियमपालन के वैक्सीन लगवा लिजिए हुजूर ……..

यूथ कांग्रेस के प्रदेश महासचिव मोनू अवस्थी ने बुजुर्गो के हिस्से की को-वेक्सीन अवैध तरीके से लगावा ली जिला अस्पताल में।

बिलासपुर: जिले में 18 प्लस उम्र से अधिक वालों के लिए वैक्सीन की कमी है। ऐसे में पिछले 15 दिनों से तो को-वैक्सीन की एक भी डोज युवओं के लिए नहीं है। ऐसा विभाग के अधिकारियों का कहना है। लेकिन अब साफ हो गया हैं। कि चोरी छिपे मंत्री, विधायक और नेताओं के गुर्गो को ये वैक्सीन बिना नियम पालन किए लगाया जा रहा है। क्योकि गुरुवार को जिला अस्पताल ऐसे ही एक युवा नेता पहुँचे जिन्हें केवल फोन करने पर को-वैक्सीन की डोज लगा दिया गया जबकि कमरे के अंदर और बाहर 5 से 6 लोग को-वैक्सीन के लिए लाइन लगाकर खड़े हुए थे सभी को यह कह कर लौटा दिया गया कि को-वैक्सीन की डोज नहीं है। अपना मोबाइल नंबर छोड़ दे यदि वैक्सीन आएगी तो आप को फोन करेंगे और बुलाकर वैक्सीन लगा देगे। लेकिन ये युवा नेता कहलाने वाले महाशय आशीष अवस्थी (मोनू) जिला अस्पताल में पहुचे तो इनसे न तो आधार नंबर मांगा गया और न ही मोबाइल नंबर ताजूब की बात तो ये है। कि इनका वैक्सीन लगाने से पहले कोविन पोर्टल में एंट्री भी नहीं किया गया। सायद इस लिए कि मोनू अवस्थी युथ कांग्रेस के प्रदेश महासचिव इस लिए आम आदमी से ये खास हो गए। अब मंत्री, विधायक और नेताओं के खास से पंगा लेकर आखिर अपनी नौकरी किसको गवानी है।
0 नर्सो ने पहचाना नहीं तो अपने आकाओ अवस्थी ने लगाया फोन
जिला अस्पताल में मोनू अवस्थी अवस्थी जब पहुचा तो किसी ने उसे पहचान नहीं फिर मोनू ने अपने आकाओ को फोन लगाया। तुरंत बाद नर्स को जिला अस्पताल के टीकाकरण इंचार्ज डॉक्टर का फोन आया। नर्सों को पता चला कि कोई अधिकारियों ने किसी को टीका लगवाने भेजा है। तो दूसरो को को-वैक्सीन नहीं है। कहकर भगाते हुए बिना नियम पालन कर मोनू अवस्थी का नाम चिल्लाकर उन्हें अंदर बुलाया गया। और वैक्सीन लगा दी गई।
0 आम आदमी बोले स्वास्थ्य मंत्री के आदमी को लग गई वैक्सीन हम तो मशक्कत करने की आदत
जिला अस्पताल से वैक्सीन लगवाकर जब मोनू अवस्थी जाने लगे तो वहां को-वैक्सीन लगवाने पहुचे आम लोगो में से एक ने कहा मैं तो इन्हें जानता हूं स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव के खास आदमी है। ये इस लिए इन्हें बिना नियम के वैक्सीन लग गया। जबकि मेरे यहां 4 लोग 45 वर्ष से अधिक वाले है। इनमें से 2 को ही वैक्सीन लगी और बाकि को जब वैक्सीन आएगी तो लगवा देना बोल दिए हम आम आदमी है। इस लिए हमारे बच्चों की जान जोखिम में हो तो कोई बाद नहीं स्वास्थ्य मंत्री के आदमी को पहले वैक्सीन लगाना विभाग के लिए ज्यादा जरुरी है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *