Breaking News

छत्तीसगढ़ में स्कूल खुलते ही दिखा करोना प्रकोप_ 10 स्कूली बच्चों समेत 24 लोग हुए पॉजिटिव

छत्तीसगढ़ में स्कूल खुलते ही दिखा करोना प्रकोप_ 10 स्कूली बच्चों समेत 24 लोग हुए पॉजिटिव

छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में स्कूल खुलने के बाद कोरोना

प्रकोप दिखाई दे रहा है। यहां 9 से 12 साल के 10 स्कूली बच्चों समेत 24 लोग पॉजिटिव हुए हैं। करीब डेढ़ महीने बाद इतने संख्या में लोग पॉजिटिव मिले हैं। पॉजिटिव मरीज शहर के मानिकपुर बस्ती इलाके की बताई जा रही है। रिपोर्ट के बाद कलेक्टर ने इलाके को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया। पुलिस और जिला प्रशासन की टीम मौके पर मौजूद है। टीम द्वारा कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग की जा रही है।बता दें कि पॉजिटिव मिले 10 छात्रों में दो सातवीं कक्षा के है, बाकी प्राथमिक स्कूल के बच्चे है, जो कि कल मोहल्ला क्लास में शामिल हुए थे। जिसके बाद आज पंचायत की बैठक के बाद स्कूल को बंद करने का फैसला लिया गया है। वहीं छात्रों के साथ अन्य पढ़ने वाले बच्चों की भी कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग की जा रही है।स्कूल के प्रचार्य सुरेश कुमार वस्त्रकार ने बताया कि शासन के आदेश अनुसार 2 अगस्त से प्रोटोकॉल का पालन करते हुए स्कूल लगाया गया था। जिसमें वार्ड पार्षद और समिति के अनुमोदन के बाद बच्चों को स्कूल बुलाया गया था। जो कि मानिकपुर बस्ती में कोरोना टेस्ट कराए जाने पर 10 स्कूली बच्चे संक्रमित पाए गए हैं। दो बच्चे कक्षा सातवीं के हैं जो बीते दिनों स्कूल आये थे। वो भी संक्रमित पाए गए हैं। सुरक्षा की दृष्टि से शाला समिति और जनप्रतिनिधि के बैठक के बाद स्कूल को बंद करने का आदेश दिया गया है।वार्ड नंबर तीस के पार्षद फूलचंद सोनवानी ने बताया कि मानिकपुर बस्ती में बीते दिनों कोरोना टेस्ट कराए जाने पर बच्चों समेत कुल 12 लोग संक्रमित पाए गए थे। पॉजिटिव मिले इलाको में जिला प्रशासन के द्वारा में बैरिकेड लगा दिया गया हैं।


प्रदेश में लगातार कोरोना संक्रमण के बढ़ते हुए मरीज दिख रहे हैं । जो चिंता की बात है । जिसमें अधिकांश बच्चे शामिल है। पिछले दिनों मोहल्ला क्लास में पढ़ाई कर रहे एक छात्र का जांच के दौरान रिपोर्ट कोरोना पॉजेटिव आया है। पॉजेटिव आये छात्र के बाद ऐहितियातन के तौर पर पूरे मोहल्ला क्लास में बढ़ रहे बच्चों की टेस्टिंग का निर्देश दिया है। रामानुजगंज के बरवाही में संचालित मोहल्ला क्लास में 7वीं में पढ़ रहे छात्रा की रिपोर्ट पॉजेटिव आयी थी। जिसके बाद उस बच्चे के साथ पढ़ने वाले सभी बच्चों का कोरोना टेस्ट कराये जाने का आदेश दिया गया है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *