सोम. सितम्बर 23rd, 2019

रमन सरकार की ब्रांडिंग करने वाली कांसोल-क्यूब इंडिया पर EOW का छापा

1 min read

रमन सरकार की ब्रांडिंग करने वाली कांसोल-क्यूब इंडिया पर EOW का छापा

रमन सरकार की ब्रांडिंग का काम देखने वाले ग्रुप ईओडब्ल्यू ने बड़ी कार्रवाई की है


रायपुर: रमन सरकार की ब्रांडिंग का काम देखने वाले कांसोल ग्रुप और क्यूब इंडिया पर शुक्रवार को ईओडब्ल्यू ने बड़ी कार्रवाई की है। ईओडब्ल्यू की टीम ने दोनों कपंनियों के दस्तावेज जब्त कर लिए हैं। एडीजी जीपी सिंह ने बताया कि कांसोल ग्रुप और क्यूब इंडिया की गड़बड़ी की जांच के लिए जो दस्तावेज जरूरी थे, उसे बरामद कर लिया गया है।
टीम ने दोपहर 12 बजे एक मॉल में कपंनी के दफ्तर में छापा मारा। कंसोल और क्यूब इंडिया नाम की इन कंपनियों को जनसंपर्क विभाग द्वारा नियमों से परे जाकर करोड़ों के काम दिए गए थे। इसकी जांच करने के बाद एसीबी-ईओडब्ल्यू ने यह पाया था कि दोनों कंपनियां एक ही मालिकाना हक की हैं।

सरकारी टेंडर में मुकाबले के लिए इन्हें अलग-अलग नाम से पेश किया जाता था। ईओडब्ल्यू के आला अधिकारियों ने बताया कि भाजपा सरकार ने इन दोनों कंपनियों ने जनसंपर्क के साथ अधिकांश सरकारी विभाग का काम किया। भूपेश सरकार आने के बाद जनसंपर्क विभाग के पिछले कामकाज के मामले एसीबी-ईओडब्ल्यू को जांच के लिए भेजे गए।

ईओडब्ल्यू की जांच में सामने आया कि बड़े अफसरों के कहने पर एसएमएस भेजने से लेकर कई दूसरे तरह के करोड़ों के काम कंसोल और उसकी दूसरी अलग-अलग नामों की कंपनियों को दिए जाते थे। विद्युत मंडल की ओर से बल्क एसएमएस भेजने का एक काम संवाद की ओर से कंसोल को दिया गया था, जिस पर संदेह व्यक्त करते हुए सीएसईबी ने काम न करवाने का आदेश भी जारी किया था।

कर्जमाफी का जाली पत्र वायरल किया था कांसोल ने

ईओडब्ल्यू के आला अधिकारियों ने बताया कि विधानसभा चुनाव में मतदान के ठीक पहले तत्कालीन प्रदेश कांग्रेसाध्यक्ष भूपेश बघेल की कर्जमाफी की घोषणा को लेकर एक पत्र वायरल किया गया था। गलतफहमी पैदा करने की नीयत से कांग्रेस कमेटी के नाम पत्र जारी हुआ था। उसे कंसोल के डायरेक्टरों ने चारों तरफ फैलाया था। इसके खिलाफ कांग्रेस ने उस समय चुनाव आयोग को शिकायत की थी, और पुलिस में रिपोर्ट भी दर्ज कराई थी।

दस्तावेजों की जांच के बाद आगे बढ़ेगी कार्रवाई : सदानंद

ईओडब्ल्यू एसपी सदानंद कुमार ने बताया कि ढाई घंटे तक हमारी कार्रवाई चली। अपराध क्रमांक 9/19 संवाद जो दर्ज किया गया था उसमें कंसोल और क्यूब इंडिया को 91 सीआरपीसी के तहत नोटिस दिया गया था। उन्होंने बहुत सारे दस्तावेज पहले हमें दिया था।

इसके अलावा कुछ और दस्तावेजों की जरूरत थी, इसलिए वहां टीम गई थी। उनसे कुछ जानकारियां लेकर टीम वापस लौट गई है, उस जानकारियों के आधार पर विवेचना होगी। जांच के दौरान किसी और का नाम आता है, तो उसे बुलाकर भी पूछताछ की जाएगी।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.