शुक्र. फरवरी 28th, 2020

अपोलो से डिस्चार्ज होने के बाद भी पुलिस के पास लाईन में  प्रर्याप्त बल नहीं होने की वजह से कल रात्रि में जेल दाखिल नहीं हो सके अमित जोगी

1 min read

अपोलो से डिस्चार्ज होने के बाद भी पुलिस के पास लाईन में प्रर्याप्त बल नहीं होने की वजह से कल रात्रि में जेल दाखिल नहीं हो सके अमित जोगी

बिलासपुर : छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के नेता व मरवाही के पूर्व विधयक अमित जोगी को बिलासपुर अपोलो अस्पताल से अंततः डिस्चार्ज तो कर दिया गया लेकिन पुलिस लाईन से बल नहीं मिलने के कारण उन्हें रात्रि अस्पताल से जेल में शिफ्ट नहीं किया जा सका। हालांकि अमित जोगी की पत्नी ऋचा जोगी ने अस्पताल के मेडिकल बुलेटिन को फर्जी करार देते हुए कोर्ट में चुनौती देने की बात कही है।

इससे पहले अमित जोगी अपना वीडियो वायरल करके अचानक फिर सुर्खियों में आये ही थे सवाल यह उठता है पुलिस कस्टडी में होने के बावजूद उन्हें मोबाइल किसने उपलब्ध कराया किसके मोबाइल से विडियो रिकॉर्डिंग कर वायरल किया गया यह सब अब जांच का विषय बन चुका है । हालांकि इस घटनाक्रम के बाद से पुलिस प्रशासन ने इनकी सुरक्षा को और मजबूत कर दी। हालांकि आज अपोलो अस्पताल ने मेडिकल बुलेटिन जारी कर उन्हें स्वस्थ करार देते हुए डिस्चार्ज कर दिया है, लेकिन जब उन्हें जेल शिफ्ट करने पुलिस बल मांगा गया तो प्रर्याप्त पुलिस बल नहीं मिल पाया जिससे उनकी जेल में शिफ्टिंग नहीं हो पाई। पुलिस प्रशासन की ओर से कहा गया कि ज्यादातर पुलिस बल गणेश विसर्जन और मोहर्रम में लगे हुए हैं लिहाज बल सुबह ही मिल पायेगा। अंततः अमित जोगी को आज रात के लिए फिर से अपोलो अस्पताल में रुकना पड़ा। हालांकि वे इस बात पर अड़े हुए हैं कि उनकी तबियत नार्मल नहीं हुई है। हालांकि सूत्रों से यह भी जानकारी मिली है कि अमित जोगी डाक्टरों से प्रशनल निवेदन कर डिस्चार्ज टिकट पर गुड़गांव वेदांता मे ईलाज कराये जाने लिखवाने में सफल हो गयें है।अब देखना यह है कि क्या जेल प्रशासन उन्हे उनके खुद के निवेदन पर वेदांता भेजती है या नहीं।

इधर हाईकोर्ट में अमित जोगी की जमानत पर सुनवाई की अर्जी भी लगी है जिसकी सुनवाई आज होने की संभावना है, ऐसे में अमित जोगी को अस्पताल से पहले जेल में आमद दिया जाएगा ।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

You may have missed

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.