गुरु. अक्टूबर 17th, 2019

एसपीजी सिक्यॉरिटी पर केंद्र सख्त, विदेश दौरे पर भी ले जाना होगा सिक्यॉरिटी कवर,…… कांग्रेस बोली- केंद्र सरकार अब गांधी परिवार की निगरानी की कोशिश कर रही हैं?

1 min read

एसपीजी सिक्यॉरिटी पर केंद्र सख्त, विदेश दौरे पर भी ले जाना होगा सिक्यॉरिटी कवर,……… कांग्रेस बोली- केंद्र सरकार अब गांधी परिवार की निगरानी की कोशिश कर रही हैं?

Sandhyadesh

राष्ट्रीय जगत विजन 7 अक्टूबर 2019

नई दिल्ली : स्पेशल प्रॉटेक्शन फोर्स (एसपीजी) में रहने वाले हर वीवीआईपी को इस विशिष्ट सुरक्षा कवर के पूरे नियम का पालन करना होगा। केंद्र सरकार ने कहा कि अब जिसे भी एसपीजी कवर मिला है, उसे हर वक्त एसपीजी टीम अपने साथ रखनी होगी, भले ही वह विदेश प्रवास पर ही क्यों न हो। ध्यान रहे कि अभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा गांधी परिवार के ही तीनों सदस्यों, सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को ही एसपीजी कवर मिला हुआ है।

गांधी परिवार पर निगरानी रखना चाहती है सरकार: कांग्रेस

यही वजह है कि कांग्रेस पार्टी इस फरमान को गांधी परिवार पर सरकारी निगरानी रखे जाने की मंशा से जोड़ रही है। कांग्रेस प्रवक्ता बृजेश कलप्पा ने हमारे सहयोगी न्यूज चैनल टाइम्स नाउ से बातचीत में कहा कि यह सीधा-सीधा निगरानी रखने का मामला है। हालांकि, बीजेपी ने कांग्रेस के इस आरोप को सिरे से नकार दिया है।
अब नियमों में किसी तरह की छूट नहीं
कांग्रेस छोड़ बीजेपी बीजेपी में आए दिग्गज नेता टॉम वडक्कन ने कहा कि अति विशिष्ट लोगों की सुरक्षा की जिम्मेदारी केंद्र सरकार की होती है, इसलिए उसे वीवीआईपी को हर जगह, हर हाल में सुरक्षा सुनिश्चित करना होता है। उन्होंने कहा, ‘इसका मकसद 24*7 सुरक्षा मुहैया कराना है। इसमें प्राइवेसी के उल्लंघन की कोई मंशा नहीं हो सकती है। उनको (गांधी परिवार के सदस्यों को) जहां जाना हो, वे इसके लिए आजाद हैं, लेकिन अगर उन्हें कहीं, कुछ हो गया तो इसके लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया जाएगा।’
क्या कहते हैं जानकार

उधर, एसपीजी कवर रूल के जानकारों का कहना है कि केंद्र सरकार ने गांधी परिवार को मिल रही सुरक्षा की कोई समीक्षा नहीं की और न ही कोई नया नियम लागू किया, बल्कि सरकार मौजूदा एसपीजी रूल का पूरी तरह पालन करवाना चाहती है। एक एक्सपर्ट ने टाइम्स नाउ को बताया, ‘एसपीजी वीवीआई पी की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार होता है। अगर किसी को एसपीजी कवर मिल रहा है तो नियम के अनुसार उसे हर वक्त इस सिक्यॉरिटी ग्रुप को अपने साथ रखना चाहिए। हालांकि, गांधी परिवार के सदस्य व अन्य पार्टी केलोग भी इस नियम को दरकिनार करते हुए पहले भी बिना एसपीजी कवर के विदेश जाते रहे हैं।’ पर इस तरह का दबाव सरकार के तरफ से पहले कभी नहीं रहा है, जैसे की अभी डाला जा रहा है।

करीबियों की उपेक्षा से नाराज हो विदेश गए राहुल?

नियम मानने को तैयार गांधी परिवार

गौरतलब है कि गांधी परिवार का कोई सदस्य जब विदेश जाता है तो उसकी सुरक्षा में लगी एसपीजी टीम हवाई अड्डे से वापस आ जाती है। केंद्र सरकार ने इसे सुरक्षा को लेकर लापरवाही मानते हुए नियम का कड़ाई से पालन करवाने की मंशा जताई है। कहा जा रहा है कि गांधी परिवार ने केंद्र सरकार के इच्छा के अनुरूप एसपीजी कवर रूल को पूरा-पूरा मानने पर सहमति जताई है। गौरतलब है कि राहुल गांधी अब भी विदेश में हैं जहां उनके साथ एसपीजी टीम नहीं गई है।

पूर्व पीएम मनमोहन की SPG सुरक्षा हटी

सरकार ने सोमवार को पुष्टि की कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को दी गई एसपीजी सुरक्षा वापस ले ली गई है। लेकिन उन्हें जेड+ सुरक्षा मिलती रहेगी। एसपीजी की वेबसाइट के अनुसार, इस बल के अधिकारी काफी उच्च प्रशिक्षित और प्रफेशनल होते हैं। ये जवान पूरी ताकत से अति विशिष्ट व्यक्तियों की सुरक्षा करते हैं। इन अधिकारियों को चुनौतियों का आगे बढ़कर मुकाबला करने के नैसर्गिक गुण को आत्मसात करना सिखाया जाता है।

देश के श्रेष्ठ बलों में शुमार है SPG

एसपीजी न केवल अपनी कार्यप्रणाली में कई नए प्रयोग किए हैं बल्कि आईबी, राज्य और केंद्रशासित बलों के साथ समग्र सुरक्षा व्यवस्था को अपनाया है। इस बल में अनूठा सुरक्षा प्रोटोकॉल है और हर बार जब सुरक्षा प्राप्त व्यक्ति के यात्रा करने की उम्मीद होती है तो उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कई छोटी टीमें बनाई जाती हैं। एजेंसी के अधिकारी पहले ही उस स्थल पर जाते हैं और वीवीआईपी के आगमन से लगभग 24 घंटे पहले जगह को सुरक्षित बनाते हैं।

अत्याधुनिक हथियारों से लैस होते हैं SPG जवान

एसपीजी की टीम में स्नापर्स, बम निरोधक विशेषज्ञ भी होते हैं। ये जवान वीवीआईपी की सुरक्षा में साये की तरह रहते हैं। एसपीजी के जवानों की ट्रेनिंग लगातार चलने वाली प्रक्रिया होती है। इसमें शारीरिक कार्यक्षमता समेत कई तरह के अभ्यास होते हैं। एसपीजी ऐक्ट के अनुसार, सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को एसपीजी को वो तमाम सहयोग देना होता है, जिसकी वो मांग करते हैं। एसपीजी कमांडो के पास अत्याधुनिक रायफल्स, अंधेरे में देख पाने वाले चश्मे, संचार के कई अत्याधुनिक उपकरण, बुलेटप्रूफ जैकेट, ग्लब्स, कोहनी और घुटनों पर लगाने वाले गार्ड भी होते हैं। एसपीजी के पास अत्याधुनिक वाहनों का दस्ता होता है। एसपीजी के पास BMW 7 सीरीज की बख्तरबंद गाड़ियां, रेंज रोवर्स, BMW के एसयूवी, ट्योटा और टाटा के भी बख्तरबंद गाड़िया होती हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.