हर हर शंभू गाना गाने वाली फरमानी नाज के समर्थन में आया यह मुस्लिम संगठन ……. करेगा सम्मानित

हर हर शंभू गाना गाने वाली फरमानी नाज के समर्थन में आया यह मुस्लिम संगठन ……. करेगा सम्मानित

उत्तर प्रदेश : -हर शंभू’ गाने वाली फरमानी नाज का कुछ मुस्लिम धर्मगुरुओं ने विरोध किया तो अब कुछ उसके समर्थन में उतर आए हैं. उत्तर प्रदेश के देवबंद में मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के जिला संयोजक राव मुशर्रफ अली ने कहा कि हम उनके भजन उनके गाने का समर्थन करते हैं और मुस्लिम राष्ट्रीय मंच जल्द ही फरमानी नाज को सम्मानित करेगा.,

आजतक से बात करते हुए मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के जिला संयोजक राव मुशर्रफ अली ने कहा, ‘फरमानी नाज का मैंने भजन सुना है, उनका भजन मुझे बहुत अच्छा लगा है और मैं उनके भजन का समर्थन करता हूं, यह उलेमा दीन जब गौ-हत्या होती है तब फतवा जारी क्यों नहीं करते हैं, इन मौलानाओं और इनके फतवों की वजह से हमारे देश में कट्टरवाद फैल रहा है.’

मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के जिला संयोजक राव मुशर्रफ अली ने कहा, ‘वह सिंगर है और उसे तरह-तरह के भजन भी गाने पड़ेंगे, मोहम्मद रफी साहब ने भी बहुत सारे भजन गाये हैं, जो आज मंदिरों में चलते हैं और हम जल्द ही फरमानी नाज को सम्मानित करेंगे, मुस्लिम राष्ट्रीय मंच फरमानी नाज का समर्थन करती है.’

गौरतलब है कि इन दिनों ‘हर-हर शंभू’ गाना सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. इसे मुजफ्फरनगर की रहने वाली फरमानी नाज ने भी गाकर अपने यूट्यूब चैनल पर शेयर किया. इससे देवबंद के उलेमा ने फरमानी नाज के गाए ‘हर हर शंभू’ भजन को लेकर कहा कि यह शरीयत के खिलाफ है.

हालांकि, फरमानी नाज का कहना है कि वह एक कलाकार हैं और कलाकार के तौर पर हर तरह को गाना गाया है. इन दिनों सावन का महीना चल रहा है तो उन्होंने ‘हर-हर शंभू’ गीत गुनगुनाकर यूट्यूब चैनल पर डाला. उन्हें किसी ने भी घर आकर गाने से नहीं रोका है. बस, कुछ लोग सोशल मीडिया पर इस तरह के कमेंट कर देते हैं.

फरमानी नाज ने कहा कि आज लड़कियां आत्मनिर्भर होकर समाज में जी रही हैं, वे अपने टैलेंट के दम पर आगे बढ़ रही हैं, ऐसे में किसी को भला क्यों परेशानी होनी चाहिए. फरमानी ने बताया कि वह एक भक्ति चैनल चलाती हैं, जिस पर कई भक्ति गीत गाए हैं, राधा कृष्ण के भी कई गाने गाए हैं.

फरमानी नाज ने कहा, ‘हम मर्यादा में रहकर गाते हैं. कभी किसी धर्म का अपमान नहीं किया. 2018 में शादी के बाद एक बेटा हुआ. बेटे को बीमारी थी. इसके बाद पति और ससुराल वालों ने छोड़ दिया. इसके बाद जीवनयापन के लिए कड़ा संघर्ष करना पड़ा. मेरे सामने कोई विकल्प नहीं था. ऐसे में एक कलाकार के तौर पर गाने गाना शुरू कर दिया.’

फरमानी नाज ने कहा, ‘मुझे बिना तलाक दिए पति ने दूसरी शादी कर ली. इस मामले पर कभी किसी ने मेरा दुख नहीं समझा. अब आज जब गाने गाकर अपने बेटे को पाल रही हूं तो लोगों को आपत्ति हो रही है. इसमें किसी को कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए. लोग मेरे गानों को पसंद कर रहे हैं. बच्चे के भविष्य के लिए कर रही हूं.’

Leave a Reply

Your email address will not be published.