June 13, 2024

पांच साल बाद रायबरेली पहूंची सोनिया ने कहा बेटा सौंप रही हूं, ख्याल रखना ……..संविधान बचाने की लड़ाई है यह चुनाव:अखिलेश यादव

पांच साल बाद रायबरेली पहूंची सोनिया ने कहा बेटा सौंप रही हूं, ख्याल रखना ……..संविधान बचाने की लड़ाई है यह चुनाव:अखिलेश यादव

उत्तर प्रदेश: रायबरेली सांसद सोनिया गांधी ने आज पहली बार राहुल गांधी के लिए समर्थन की अपील की। इंडी गठबंधन की रायबरेली में आयोजित एक जनसभा में उन्होंने इमोशनल अपील करते हुए कहा कि आपको अपना बेटा सौंप रहीं हूं, जिस तरह आपने मुझे अपना माना उसी तरह राहुल को मानकर ख्याल रखना है। राहुल आपको निराश नहीं करेंगें। सोनिया ने अपने सम्बोधन में कहा कि मैंने प्रियंका और राहुल को वही शिक्षा दी है जो रायबरेली और इंदिरा ने मुझे दी थी।

रायबरेली में पांच साल बाद मंच से सोनिया पहली बार बोल रही थीं। उन्होंने कहा कि बहुत समय बाद मैं आपके बीच आई हूं। मुझे आपने 20 साल सेवा का मौका दिया जो मेरे लिए एक बड़ी पूंजी है। उन्होंने कहा कि रायबरेली से मेरा रिश्ता मां गंगा की तरह पवित्र है। सौ साल पहले शुरू हुआ यह रिश्ता आज तक कायम है।

जनसभा को सम्बोधित करते हुए सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि सिलेंडर वाले सरेंडर कर रहे हैं।उन्होंने कहा कि यह संविधान बचाने की लड़ाई है। चीनी बांटने वाले अब दिखाई नहीं दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह अस्तित्व बचाने की लड़ाई है। अब रायबरेली की जनता अपनी राय बना चुकी है कि 4 जून के बाद भाजपा अपनी पोटली बांधकर जाये। अखिलेश यादव ने मनोज पांडे पर तंज कसते हुए कहा कि आपको धोखेबाजों से सावधान रहना है। आपके यहां का भी एक धोखेबाज है जो जहां रहता है, वहीं गढ्ढा खोदता है।ऐसे लोगों से सावधान रहने की जरूरत है। आपका एक वोट इन धोखेबाजों को सबक सिखाएगा।

इंडी गठबंधन के प्रत्याशी राहुल गांधी ने सम्बोधित करते हुए कहा कि आजकल प्रधानमंत्री के पास बताने को कुछ नही है, वह मेरी ही बात को दोहराते हैं। वह अपनी हार मान चुके हैं। राहुल ने कहा कि बेरोजगारों का अपमान किया गया। नौकरी मांगीं तो कहा गया कि पकौड़े तलो, लाठियां मिली। किसानों, महिलाओं का अपमान किया गया। लेकिन अब यह नहीं होगा। 4 जून के बाद जो लिस्ट बनेगी उसमें आपका भी नाम होगा।

रायबरेली में राहुल के प्रचार की कमान संभाल रहीं प्रियंका का सम्बोधन नहीं हुआ। इस दौरान वह सोनिया को सहारा देती रहीं। जनसभा में रायबरेली में पहली बार पूरा गांधी परिवार एक मंच पर इकट्ठा था। इंडी गठबंधन के कांग्रेस के अलावा किसी बड़े नेता की भी पहली सभा रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.