February 25, 2024

छत्तीसगढ़ में कोयला दलाल सूर्यकान्त तिवारी और सौम्या चौरसिया के बाद किसका नंबर ? आधा दर्जन आईपीएस अधिकारियों का मामला केंद्रीय गृह मंत्रालय में,जाने वजह

1 min read


छत्तीसगढ़ में कोयला दलाल सूर्यकान्त तिवारी और सौम्या चौरसिया के बाद किसका नंबर ? आधा दर्जन आईपीएस अधिकारियों का मामला केंद्रीय गृह मंत्रालय में,जाने वजह


दिल्ली/रायपुर : छत्तीसगढ़ की सुपर सीएम सौम्या चौरसिया और कोयला दलाल सूर्यकान्त तिवारी के बाद अगला नंबर किसका ? इसे लेकर रायपुर से लेकर दिल्ली तक प्रशासनिक और राजनीतिक गलियारा गरमाया हुआ है। बताते है कि केंद्रीय गृह मंत्रालय में IT-ED के साथ CBI के अधिकारियों की बैठक के बाद गृह मंत्री अमित शाह को भेजा गया ड्राफ्ट चर्चा में है।

बताते है कि मामला छत्तीसगढ़ में जारी छापेमारी से जुड़ा है। फ़िलहाल इस ड्राफ्ट की इबारतों को लेकर अधिकारियों की चुप्पी रहस्मय नजर आ रही है। सूत्र बताते है कि अखिल भारतीय सेवाओं के कुछ अधिकारियों की भूमिका को लेकर केंद्रीय जाँच एजेंसियो की शिकायतों को लेकर पिछले दो, तीन दिनों से जारी बैठक में लिए गए फैसलो से गृह मंत्री को अवगत कराया है। इस बीच IT-ED के गलियारों में एक बार फिर छत्तीसगढ़ को लेकर सरगर्मियां तेज है।

छत्तीसगढ़ में ED ने राज्य की सुपर सीएम सौम्या चौरसिया के खिलाफ चालान पेश कर अपनी दूसरे दौर की कार्यवाही को मुकम्मल किया है। वही एजेंसियाँ अब तीसरे दौर की कार्यवाही की तैयारी में जुट गई है। बताते है कि अपने दो, दौर की कार्यवाही में ED के हत्थे दर्जन भर आरोपी चढ़ चुके है। इसमें प्रमुख नाम सौम्या चौरसिया, सूर्यकान्त तिवारी और आईएएस समीर विश्नोई का है।

बीते दो, दौर में अदालत को सौपे गए ED के चालान में छत्तीसगढ़ में सुनियोजित रूप से चल रहे कई अवैध कारोबार और भ्रस्टाचार का खुलासा किया गया है। ED ने इन आरोपियों की लगभग 170 करोड़ की संपत्ति अटैच की है। जबकि हजारो करोड़ की अनुपातहीन संपत्ति की जाँच लंबित है। राज्य के कोल खनन घोटाले के मामले में आधा दर्जन आईएएस अधिकारियों से पूछतांछ जारी है। इस पड़ताल के बीच लगभग आधा दर्जन आईपीएस अधिकारियों का नाम सुर्खियों में है। बताते है कि ये अफसर अपनी कार्यप्रणाली को लेकर सुर्खियों में है।

सूत्रों द्वारा दावा किया जा रहा है कि आने वाले दिनों में छत्तीसगढ़ के प्रशासनिक हलकों में खलबली मचा सकती है। बताते है कि आईपीएस पारुल माथुर, एसएसपी रायपुर प्रशांत अग्रवाल, भोजराम पटेल और आईपीएस शेख आरिफ समेत कुछ पुलिसकर्मियों से पूछताछ हो सकती है। बताते है कि छापेमारी के दौरान आईएएस अनिल टुटेजा और उनके पुत्र यश टुटेजा के कब्जे से बरामद मोबाईल से कई ऐसी चैट सामने आई है, जिसे संवैधानिक संस्थाओ की मान मर्यादा और सरकारी महकमों में व्याप्त भ्रष्टाचार के पुख्ता सबूतों से जोड़कर देखा जा रहा है।

बताते है कि ये दस्तावेज CBI के साथ भी साझा किए गए है। सूत्र बताते है कि तीन आईपीएस अधिकारियों क्रमशः पारूल माथुर,प्रशांत अग्रवाल और भोजराम पटेल ने कोल माफिया सूर्यकांत तिवारी के साथ कई महत्वपूर्ण ऑफिशियल डिटेल्स साझा की थी।

जबकि रायपुर के तत्कालीन SSP आरिफ शेख ने ED के आरोपी अनिल टुटेजा के साथ मिलकर सेक्स सीडी कांड के आरोपियों को गैरकानूनी मदद जारी रखी।

सूत्रों द्वारा बताया जा रहा है कि इस मामले में CBI के गवाहों को प्रभावित करने के मामले में शेख आरिफ सुर्ख़ियों में है। बताते है कि आरोपी अनिल टुटेजा के साथ उनकी मोबाइल चैट और कार्यप्रणाली गंभीर अपराध के दायरे में है। जानकारी के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट में लंबित सेक्स सीडी कांड के मामले में शेख आरिफ ने कोर्ट पर गंभीर टिप्पणी भी की है।

बताया जा रहा है कि इनमे से कुछ अधिकारियों से ED पिछले माह पूछताछ कर चुकी है। जबकि मामले की विस्तृत पड़ताल के बाद IT-ED को जो तथ्य हाथ लगे है,वो हैरान करने वाले है। बताया जाता है कि ED की एक रिपोर्ट गृह मंत्रालय में चर्चा में है। सूत्र बताते है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह जल्द इस रिपोर्ट पर फैसला ले सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.